परेशानियों से बचना चाहते हैं तो इन बातो को ध्यान में रखें

Posted on

अगर छोटी-छोटी का ध्यान रखा जाए तो दैनिक जीवन की कई समस्याएं स्वयं भी खत्म हो सकती हैं। आचार्य चाणक्य ने जीवन में सुख-शांति बनाए रखने के सूत्र बताने वाले नीति शास्त्र की रचना की थी। चाणक्य नीति की बातों को अपनाने पर हमें हर काम में सफलता मिल सकती है। यहां जानिए एक ऐसी ही नीति…

मूर्खा यत्र न पूज्यन्ते धान्य यत्र सुसंचितम्…दंपतो: कलहो नास्ति तत्र श्री: स्वयमागता।। ये चाणक्य नीति ग्रंथ के तीसरे अध्याय का 21वां श्लोक है।

इस नीति में चाणक्य कहते हैं कि जहां मूर्खों की पूजा नहीं होती है, सिर्फ ज्ञानियों का सम्मान होता है। बुद्धिमान लोगों की बातों पर अमल किया जाता है, वहां सुख-शांति बनी रहती है। बुद्धिमान लोगों की संगत करने पर हमारी कई समस्याएं खत्म हो सकती हैं।

जिन घरों में धन-धान्य पर्याप्त मात्रा में संग्रहित रहते हैं, अन्न का एक दाना भी व्यर्थ नहीं फेंका जाता, वहां अन्न की कमी नहीं होती है। जिस घर में पति-पत्नी के बीच वाद-विवाद नहीं होते हैं, सभी प्रेम से रहते हैं, वहां सुख-शांति बनी रहती है।

जो लोग मूर्खों की सेवा करते हैं, जहां धन-धान्य का अपमान किया जाता है, संग्रहण नहीं किया जाता, जिस घर में पति-पत्नी सदैव लड़ते रहते हैं, जहां कलह होता है, वहां कभी भी सुख-शांति का वास नहीं हो सकता है। इसीलिए मूर्ख लोगों की संगत से बचें, थाली में खाना न छोड़ें, परिवार में प्रेम से रहें।

आप सभी से विनम्र आग्रह

पोस्ट अच्छी लगी तो पोस्ट को अपने 5 दोस्तों के साथ Whtsapp में शेयर जरूर करें धन्यवाद 🌺🌺

9 comments

  1. ÒM ÒM OM OM OM OM OM
    AAJ MANUSHYA K ROTI K CHINTA JITNA MANAV K TANG KAR RAHA HAI UTNA BADA OUR KOI V CHINTA MANAV K NAHI TANG KAR RAHA HAI

    OUR KARAN HAI CHARITRA ME HINSHA K BADHANA CHARITRA ME SE HINSHA K TO MARNA HI PADEGA
    SATSANG SADGURU OUR ISHWAR SABHI CHARITRA K DHANI LOG K BAATE SO BAHOT KUCHH SAMBHAW HOTE RAHTA HAI JO HUMLOG NE KABHI KALPNA V NAHI KIYE
    SHIV SHARAN SHIV BARAN
    MERA BHARAT MAHAN
    BHARAT MATA KI JAI
    ÒM OM OM OM OM OM OM

  2. बहुत ही सुंदर कहानी है| इस कहानी से हमने
    आज कुछ सीखा है|
    राधे राधे जी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *